संधियां वैश्विक स्तर पर परिवर्तनों को उत्प्रेरित करती हैं।

महिलाओं और पुरुषों से युक्त 128 देशों में हमारे कार्य समूह और वैश्विक विशेषज्ञों ने संयुक्त राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य संगठन की अनुशंसाओं, और विद्वानों के अनुसंधान का अध्ययन किया है कि किस प्रकार से महिलाओं और लड़कियों के विरुद्ध हिंसा की समस्या का समाधान किया जाए और पाया है कि इस संधि में इस जटिल समस्या का निवारण करने की शक्ति है।

लेकिन, वर्तमान में, विश्व स्तर पर कानूनी रूप से बाध्यकारी कोई कानून मौजूद नहीं है जिससे कि महिलाओं और लड़कियों के विरुद्ध हिंसा की रोकथाम और निवारण के लिए राष्टों को जवाबदेह ठहराया जा सके।

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा उन्मूलन पर 1993 में संयुक्त राष्ट्र की घोषणा और 1979 में महिला समानता संधि के लिए सामान्य अनुशंसाएं (महिलाओं के विरुद्ध सभी प्रकार के भेदभाव का उन्मूलन सम्मेलन, या CEDAW) जैसे मौजूदा साधनों ने इस समस्या को वैश्विक मंच पर पहुंचाया है और महिलाओं के विरुद्ध हिंसा से तात्कालिक रूप से निपटना आवश्यक बनाया है। अगला कदम है वैश्विक संधि के साथ इसे समाप्त करना।

घोषणाओं और अनुशंसाओं के विपरीत, एवरी वुमेन ट्रिटी से राष्टों के लिए उन रणनीतियों को लागू करना कानूनी रूप से आवश्यक हो जाएगा जो हमें पता है काम करेंगी – पांच जांचे परखे हस्तक्षेप। इसके द्वारा बड़े पैमाने पर राजनीतिक इच्छा उत्पन्न होगी जिससे कि राष्ट्र कदम उठाने पर विवश हो जाएंगे, और वित्त पोषण में वृद्धि होगी, जिससे महिलाओं और लड़कियों के विरुद्ध हिंसा की रोकथाम हेतु सभी के लिए अधिक संसाधन जुट पाएंगे।

अन्य वैश्विक संधियों ने परिवर्तन लाने में सफल रहे हैं

याद करें जब विमानों में धूम्रपान अनुभाग होते थे तथा रात को बाहर निकलने का अर्थ सिगरेट का धुंए में सांस लेना होता था? हर जगह धूम्रपान किया जाता था तथा वैश्विक संस्कृति में यह इतना गहराई से समाहित था कि परिवर्तन लगभग असंभव दिखाई देता था। इसके बाद तंबाकू संधि पारित की गई। इसके परिणामस्वरूप धूम्रपान के खतरों पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ध्यान आकर्षित हुआ, जिसकी वजह से वैश्विक मानकों में आमूल चूल परिवर्तन संभव हुए; धूम्रपान करने का मेरा अधिकार, स्वच्छ हवा में मेरा सांस लेने का अधिकार बन गया।वर्तमान में, सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पर प्रतिबंध से खतरनाक धुएं के संपर्क में बड़े पैमाने पर कमी आई है।

इसी तरह, बारूदी सुरंग (माइन) प्रतिबंध संधि को पारित करने के बाद, सरकारों द्वारा उनके स्टॉक को नष्ट किया गया तथा लाखों एकड़ क्षेत्र से बारूदी सुरंगों को हटाया गया जिससे एक से अधिक राष्ट्र में असंख्य लोगों की जान बचाई जा सकी।

हम महिलाओं और लड़कियों के लिए भी ऐसा ही कर सकते हैं।

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा समाप्त करने के लिए वैश्विक संधि के साथ, हम मौन की वर्तमान प्रणाली को जवाबदेही और सुरक्षा में बदल सकते हैं।

संधि से यह अध्यादेशित किया जाएगा कि राष्ट्रों को हिंसा की दर को कम करने के लिए प्रमाणित हस्तक्षेपों का अधिनियम करना होगा :

1. कानून। कानूनी अंतर को दूर करें, अपहरक (पक्षपातपूर्ण) कानूनो को हटाना। इस प्रकार के कानूनी परिवर्तन मायने रखते हैं; जिन देशों में घरेलू हिंसा कानून हैं, वहां महिलाओं की मृत्यु दर 32 प्रतिशत कम थी।1

2. प्रशिक्षण और उत्तरदेयता। पुलिस, न्यायाधीशों, नर्सों तथा चिकित्सकों तथा अन्य पेशेवरों के लिए, जिनकी वजह से अधिक से अधिक अपराधियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई संभव होगी और पीड़िता के साथ बेहतर व्यवहार किया जाएगा।

3. हिंसा रोकथाम शिक्षा। शोध से यह पता लगा है कि शिक्षा लड़कों और पुरूषों की सोच तथा कार्यों को प्रभावित करती है और महिलाओं और लड़कियों को अपने अधिकारों की मांग करने के लिए प्रोत्साहित करती है।2

4. पीड़िताओं के लिए सेवाएं। हॉटलाइन्स, आश्रय स्थल, कानूनी सलाह, तथा अन्य सेवाओं यह सुनिश्चित किया जाता है कि पीड़िता को उपचार तथा संरक्षा मिलती है, और उसे न्याय पाने के लिए साधन और संभावनाएं उपलब्ध होती हैं।

5. इसका वित्त पोषण करें। संधियों के परिणामस्वरूप वित्त पोषण का उत्प्रेरण होता है। बारूदी सुरंगों पर प्रतिबंध लगाने के 36 घंटों के भीतर, राष्ट्रों द्वारा इसके कार्यान्वयन के लिए 500 मिलियन अमरीकी डालर की प्रतिबद्धता व्यक्त की गई।3 एवरी वुमन ट्रिटी निधि द्वारा हर वर्ष $4 बिलियन, या धरती पर प्रति महिला एक डालर का लक्ष्य रखा गया है3

इस संयोजित प्रयास से सरकार के हस्तक्षेपों के असमान कार्यान्वयन को एक व्यापक, प्रभावी कार्य प्रणाली में परिवर्तित किया जा सकेगा, जिसे महिला की संरक्षा और सुरक्षा में बढ़ोतरी के लिए प्रमाणित किया जा चुका है।

हम महिलाओं के प्रति हिंसा का रोक सकते हैं।

हमसे जुड़ें। मिलकर, आइये एक इतिहास का सृजन करते हैं।

अगला चरण उठाएं तथा

एवरी वुमन संधि पर हस्ताक्षर करें

मैं हर जगह, हर महिला और लड़की के प्रति हर प्रकार की हिंसा से मुक्त जिंदगी का समर्थन करता/करती हूं।

*By signing you will be added to our mailing list. You can choose to opt out from the signature confirmation email.

Thank you! And welcome to the global movement for a treaty!

Please share and ask 3 friends or family members to join you, in honor of the 1 in 3 women who experience violence worldwide. Together, let’s make history.